Menu

सोयाबीन में तेजी नहीं


सोयाबीन में पिछले 15/20 दिनों से छुटपुट उतार—चढ़ाव का रुख देखा जा रहा है। प्लांटों की पूछपरख आने पर कीमत में 40/50 रुपये की वृद्धि और बिकवाली का दबाव बनने पर इतनी ही गिरावट आ जाती है। यही सिलसिला आगामी दिनों बना रहने की संभावना है। देश में इस वर्ष उत्पादन 141 लाख टन के पार होने का अनुमान लगाया जा रहा है, अभी भी आवक 2.5/3 लाख बोरी दैनिक के लगभग हो रही है। इससे साफ जाहिर है कि उत्पादकों के पास अभी अच्छी—खासी मात्रा में सोयाबीन मौजूद है। सोयाबीन कीमत मुख्य रूप से सोयामील के ऊपर निर्भर करती है जो आगामी दिनों गिरावट का संकेत दे रही है क्योंकि ब्राजील, अर्जेन्टीना, और अमेरिका में उत्पादन बढ़ेगा इसलिए बिक्री का दबाव बनना आगामी दिनों निश्चित है।