Menu

बजट के बाद ही चीनी में तेजड़िये हुए सक्रिय


होली तक कीमत 150/200 रुपये बढ़ने के आसार
शामली। नया सीजन शुरू होने के साथ ही जिस प्रकार चीनी ने जोरदार तेजी दर्ज की है उसको देख सभी की निगाह इसकी चाल पर लगी हुई है। अधिकांश कारोबारी इसकी जानकारी लेने में लगे हुए हैं। जिस दिन सरकार ने कीमत बढ़ाने की इजाजत दी थी उसी दिन ही व्यापार भास्कर ने चीनी में जोरदार तेजी की संभावना व्यक्त की थी जो होली तक हकीकत में बदली नजर आयेगी। कारोबारियों की निगाह आम बजट पर लगी हुई थी क्योंकि कुछ लोगों का अनुमान था कि सरकार चीनी के आयात शुल्क में कटौती कर बढ़ती कीमत पर अंकुश लगायेगी किन्तु उस समय भी व्यापार भास्कर कीमत बढ़ने की संभावना व्यक्त कर रहा था क्योंकि जो सरकार भाव बढ़ाने का प्रयास कर रही है वह कीमत को तब तक नीचे नहीं लायेगी जब तक उघोग को अच्छा—खासा लाभ नहीं मिल जाता और बजट आने पर ऐसा ही देखा गया। सरकार ने राशन पर दी जाने वाली सब्सिडी को समाप्त कर दिया। इससे आगामी दिनों कीमत और बढ़ने का रास्ता साफ हो गया।
बजट के बाद ही चीनी में तेजड़िये सक्रिय हो गये। बजट पूर्व जो नरमी थी वह दोपहर के बाद ही गरमी में बदलने लगी। होली पर्व के खपत तक कीमत में अभी 150/175 रुपये की तेजी के आसार हैं। आंकड़ों के अनुसार 31 जनवरी तक देशभर में चीनी का उत्पादन 128.55 लाख टन हुआ है जो गत वर्ष इसी समय तक 142.80 लाख टन था। इन आंकड़ों से सहज ही अनुमान लगाया जा सकता है कि उत्पादन में कितनी गिरावट आ रही है। आने वाले दिनों में यह गिरावट और भी बढ़ने की संभावना दिखाई दे रही है क्योंकि बजट पूर्व चीनी उघोग ने बैठक कर उत्पादन के अनुमान 213 लाख टन जारी किए थे, जो गत वर्ष के मुकाबले काफी कम हैं।